भज राम नाम सुखदाई भजन करो भाई ये मेला दो दिन का।Lyrics Verified 

टेर : भज राम नाम सुखदाई भजन करो भाई ये मेला दो दिन का। ये तन है जंगल की लकड़ी आग लगे जल जावे, भजन करो भाई, ये मेला दो दिन का। भज राम नाम….. ये तन है कागज की पुड़िया हवा लगे उड़ जावे भजन करो भाई, ये मेला दो दिन का। भज राम

बजरंग बलि मेरी नाव चली जरा बलि कृपा की लगा देना,Lyrics Verified 

टेर : बजरंग बलि मेरी नाव चली जरा बलि कृपा की लगा देना। मुझे रोग दोष ने घेर लिया मेरे पापों को नाथ मिटा देना, मैं दास तो आपका जन्म से हूँ बालक और शिष्य भी धर्म से हूँ। बजरंग बलि….. दुर्बल हूँ गरीब हूँ दीन हूँ मैं निज कर्म क्रिया मति छिण हूँ मैं,

हो रही जय जयकार बालाजी तेरे मंदिर में,Lyrics Verified 

टेर : हो रही जय जयकार बालाजी तेरे मंदिर में, उड़ रही लाल गुलाल बालाजी तेरे मंदिर में। भगत खड़े तोहे भजन सुनावे नाच नाच रमझोल मचावे , खुशियों के लगे अम्बार बालाजी तेरे मंदिर में। कोई मेवा पकवान चढ़ावे बार बार धन माल लुटावे, प्रशादी की बहार बालाजी तेरे मंदिर में। ध्वजा नारियल सवा

लहर लहर लहराए रे, झंडा बजरंग बली का।Lyrics Verified 

टेर : लहर लहर लहराए रे, झंडा बजरंग बली का। इस झंडे को हाथ में लेके, हाथ में लेके साथ में लेके, सिया सुधि ले आये रे, झंडा बजरंग बलि का। लहर-लहर…. इस झंडे को हाथ में लेके, हाथ में लेके साथ में लेके, अक्षय को मार गिराए रे, झंडा बजरंग बलि का। लहर-लहर…. इस

जलती रहे बजरंग बाला ज्योत तेरी जलती रहे।Lyrics Verified 

दोहा : जगमग ज्योत जगे नित तेरी हुआ अँधेरा नाश, भगतों के घर हुई रोशनी, मेरी भी पुरो आस। टेर : जलती रहे बजरंग बाला ज्योत तेरी जलती रहे। किसने ओ बाबा तेरा भवन बनाया किसने चवर झुलाया। ज्योत तेरी….. भगतों ने बाबा तेरा भवन बनाया सेवक चवर झुलाया ज्योत तेरी….. लाल सिंदूर बाबा अंग

मुझे कोई लादे रे राम नाम की माला।Lyrics Verified 

हम लाये है आपके लिए प्रभु श्री राम जी का बहुत ही प्यारा भावपूर्ण भजन भक्तों को भाव विभोर करने के लिए श्री रामचंद्र जी का बहुत सुन्दर भजन के लिरिक्स। जय श्री राम। दोहा : मनका फेरत जुग भया, फिराना मन का फेर, कर का मनका डार दे मनका मनका फेर। टेर : मुझे

धोये धोये आंगने में आओ म्हारा बालाजी,Lyrics Verified 

टेर : धोये धोये आंगने में आओ म्हारा बालाजी, टाबरिया बुलावे बेगा आओ म्हारा बालाजी। धोये धोये आंगने…. फूलों से थारी झांकी सजी है कण कण में थारी छवि बसी है, दोड्या दोड्या आंगने में आओ म्हारा बालाजी। धोये धोये आंगने…. तेज तिहारो बाबा चम चम चमके मुख मंडल की आभा दमके, सत्य की ज्योत

माया कोणी चले सागे रे,Lyrics Verified 

टेर : माया कोणी चले सागे रे, दया धर्म पुण्यदान भजन कर मिलसी आगे रे। पिछले जन्म में करी कमाई लगा रहा घर में ठाट, बिना भजन जो आये जगत में रहे है विपदा काट। माया कोणी….. मात पिता की सेवा कर ले, नित उठ ले आशीष, घर आँगन में मौज मनाओ सत्य है बिसवा

रुकमणी जीमण दे मने, भक्तों का प्रशाद,Lyrics Verified 

टेर : रुकमणी जीमण दे मने, भक्तों का प्रशाद, प्रेम वाला भोजन ऐ मने, लगे बड़ा स्वाद।। काचे चावल मत ना खाओ, कर से कृपा निधान। कच्चे-कच्चे चावलों से पेट दुखेगा कहा मेरा ले मान।। रुकमणी जीमण दे…. धन्ने भगत की गउए चराई, बाजरे की रोटियां खाई। अपने भक्त के खेत बाजरी, बिना बीज निप

आओ राम जी भोग लगावो, निज भक्तों का मान बढ़ाओLyrics Verified 

टेर : आओ राम जी भोग लगावो, निज भक्तों का मान बढ़ाओ। दुर्योधन का मेवा त्यागा साग विदुर के घर खाओजी। कैरव कुल के घट की जानी भगत को मान बढ़ायो।। आओ राम जी….. कर्मा के घर खीचड़ खायो रुच रुच भोग लगायो जी। कई दिनों तक दर्शन दीन्हा सुबह श्याम घर आयोजी।। आओ राम