मनमोहना कान्हा सुनो ना तुम बिन पाऊं कैसे चैन

मनमोहना….मनमोहना…
कान्हा सुनो ना…
तुम बिन पाऊं कैसे चैन…
तरसूं तुम्ही को दिन रेन..
छोड़ के अपने काशी- मथुरा
आके बसो मोरे नैन
यौम बिन पाऊं कैसे चैन…कान्हा…
तरसूं तुम्ही को दिन- रैन
इक पल उजियारा आये,
इक पल अँधियारा छाये,
मन क्यूं ना घबराये,
कैसे ना घबराये..
मन जो कोई गाना हाँ अपनी राहों में पाए
कौन दिशा जाए
तूम बिन कौन समझाए
रास रचइया वृन्दावन के गोकुल के वाशी
राधा तुम्हरी दासी
दरसन को है प्यासी
श्याम सलोने नंदलाला कृष्णा बनवारी
तुम्हरी छवि है न्यारी
मैं तो तन- मन हारी
मनमोहना… मनमोहना…

◾️ कान्हा सुनो ना…
तुम बिन पाऊं कैसे चैन…
तरसूं तुम्ही को दिन रेन..
जीवन इक नदियां है
लहरो- लहरो बहती जाए
इसमें मन की नइया डूबे, कभी तर जाए
तुम ना खेवइया हो तो कोई तट कैसे पाए
मझदार बहलाये, तो तुम्हरी शरण आये
हम तुम्हरी शरण आये
मैं हूँ तुम्हारी,
है तुम्हारा ये मेरा जीवन
तुमको देखूं मैं, देखूं कोई दर्पण
बंशी बन जाउंगी,इन होठों की हो जाउंगी
इन सपनो से जल- थल
है मेरा मन आँगन

We Brought A Calc App that can help you to calculate you Loan Amount through EMI!
EMI to Loan Calculator
EMI to Loan Calculator
Developer: finstack
Price: Free

Happy Holi All of you, We Brought a Simply Amazing App for you. Download now!

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *