ऐ मेरे प्राण प्रीतम मेरे सांवरे

ऐ मेरे प्राण प्रीतम मेरे सांवरे,
मुझको तेरे सिवा कुछ,
नहीं चाहिए,
तेरे दर की मिले जो,
गुलामी मुझे,
दो जहाँ की हुकूमत,
नहीं चाहिए,
ऐ मेरे प्राण प्रीतम मेरे सांवरे,
मुझको तेरे सिवा।।

◾️ तेरे गम से बड़ी है,
मोहब्बत मुझे,
मुझको झूठी मुसर्रत,
नहीं चाहिए,
है मसीहा मेरे मैं,
वो बीमार हूँ,
जिसको दुनिया की राहत,
नहीं चाहिए,
ऐ मेरे प्राण प्रीतम मेरे साँवरे,
मुझको तेरे सिवा।।

◾️ मेरी शान-ए-फकीरी,
सलामत रहे,
मेरे दिल में तुम्हारी,
मोहब्बत रहे,
मेरे दिल पे तेरी,
बादशाहत रहे,
मुझको इसके सिवा,
कुछ नहीं चाहिए,
ऐ मेरे प्राण प्रीतम मेरे साँवरे,
मुझको तेरे सिवा।।

◾️ तेरी करुणा पे मुझको,
बड़ा नाज है,
मैं हूँ चाकर तू मेरा,
सरताज है,
दूर कर दे जो सांवल,
तेरे प्यार से,
ऐसी शान और शौकत,
नहीं चाहिए,
ऐ मेरे प्राण प्रीतम मेरे साँवरे,
मुझको तेरे सिवा।।

◾️ ऐ मेरे प्राण प्रीतम मेरे सांवरे,
मुझको तेरे सिवा कुछ,
नहीं चाहिए,
तेरे दर की मिले जो,
गुलामी मुझे,
दो जहाँ की हुकूमत,
नहीं चाहिए,
ऐ मेरे प्राण प्रीतम मेरे सांवरे,
मुझको तेरे सिवा।।

चुनिंदा गुड मॉर्निंग और गुड नाईट के 300+ सन्देश। भेजें अपनों को कार्ड बनाकर।

एक बेहतर और सफल जिंदगी के लिए हमारे नजरिये और सोच का सकारात्मक होना बेहद जरुरी है। आज हम आपको कुछ ऐसे ही सुविचार बता रहे हैं जिन्हे पढ़कर आपके सोचने का नजरिया बदल जायेगा।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *