आओ मेरे कान्हा चलें रास रचाने

आओ मेरे कान्हा चलें रास रचाने
रास रचाने चलें बनके दीवाने ..2

◾️ जब नृत्य करे बगियन में मेरे प्यारे मोहना
नहीं फूली समाउ मन में मेरे प्यारे कान्हा
मन नहीं लागे मेरा तेरे बिना रे
रस्ता निहारु तेरा जमुना किनारे ..2
बहता निर्मल पानी मेरी प्यारी राधिका
तेरी मीठी लागे वाणी मेरी प्यारी राधिका
तुम्ही बसे मेरे मन मंदिर में
तुम बिन जिया मोरा लागे नहीं घर में ..2
तुम्हे मान चुकी भगवन मैं मेरे प्यारे गोपाला
नहीं फूली सामऊ मन में मेरे प्यारे कान्हा ..2

◾️ समझे गवाले श्याम राधा मन बसिया
रास रचावे चोरी चोरी रंगरसिया ..2
है अद्भुत प्रेम कहानी मेरी प्यारी राधिका
तेरी मीठी लागे वाणी मेरी प्यारी राधिका ..2
सखियाँ भी छेड़े मुझे नाम तेरा लेके
काम से गयी राधा कहे कान्हा देखे ..2
कैसे निकलू मैं गलियां में मेरे प्यारे गोपाला
नहीं फूली समऊ मैं में मेरे प्यारे कान्हा ..2

◾️ मैया से मेरा ब्याह करवा दे
राधा को मोरी दुल्हनिया बना दे ..2
नहीं कोई कमल की रानी मेरी प्यारी राधिका
तेरी मीठी लागे वाणी मेरी राधिका ..2
तेरी मीठी मीठी वाणी मेरी प्यारी राधिका
नहीं फूली समऊ मन में मेरे प्यारे कान्हा ..2

गीता की 151 चुनिंदा पंक्तियों का संकलन| आशा है की यह पंक्तियाँ आपने जीवन में सकारात्मकता का संचार करेगी| जय श्री कृष्णा !

कृष्ण जन्माष्टमी शायरी कार्ड -2019

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *