बजरंग बाला जपूँ थारी माला, रामदूत हनुमान, भरोसो भारी है✓ Lyrics Verified 

टेर : बजरंग बाला जपूँ थारी माला, रामदूत हनुमान, भरोसो भारी है…

लाल लंगोटो वालो तू, अंजनी माँ को लालो तू,
राम नाम मतवालो तू, भगतां को रखवालो तू,
सालासर तेरा भवन बना है सुन ले पवन कुमार,
बजरंग बाला जपूँ…

शक्ति लक्ष्मण के लागि, पल माहि मूर्छा आगि,
द्रोणगिरि पर्वत ल्यायो, सांचो है तू अनुरागी,
घोल संजीवन लखन पिलाई, जागे वीर महान,
बजरंग बाला जपूँ…

तूने लंका जारी रे, मारे अत्याचारी रे,
हुकुम के तावेदारी रे, बाल जति ब्रम्हचारी रे,
अहिरावण की भुजा उखाड़ी, ल्यायो तू भगवान्,
बजरंग बाला जपूँ…

बड़े बड़े कारज सारे, दुष्टों को दलने वाले,
सच्ची भगति के बल से, घट में राम दिखा डाले,
चीर कलेजा तू दिखलाया, मगन भये भगवान्,
बजरंग बाला जपूँ…

बल को तेरो पार नहीं, ना तुझ सो दिलदार कोई,
शंकर को अवतार तु हीं, साचो हिम्मत दार तु हीं,
शरण पड़े को आन उबारो, सांवर करे पुकार,
बजरंग बाला जपूँ…

गीता की 151 चुनिंदा पंक्तियों का संकलन| आशा है की यह पंक्तियाँ आपने जीवन में सकारात्मकता का संचार करेगी| जय श्री कृष्णा !

दोस्तो इस एप्प में आप जानेंगे सफल लोगों की उन 30 आदतों के बारे में जिनकी वजह से वह आज कामयाब हैं। और उन्हें अपनाकर आप भी कामयाब हो सकतें हैं।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *