Tag: Shankar MAhadevan

मेरे सारे पलछिन सारे दिन

मेरे सारे पलछिन सारे दिन तरसेंगे सुन ले तेरे बिन तुझको फिर से जलवा दिखाना ही होगा अगले बरस आना है, आना ही होगा तुझको फिर से जलवा दिखाना ही होगा अगले बरस आना है, आना ही होगा देखेंगी तेरी राहे, प्यासी प्यासी निगाहे तो मान ले, तू मान भी ले तू कहना मेरा लौट

गणनायकाय गणदेवताय गणाध्यक्षाय धीमहि

गणनायकाय गणदेवताय गणाध्यक्षाय धीमहि, गुणशरीराय गुणमण्डिताय गुणेशानाय धीमहि, गुणातीताय गुणाधीशाय गुणप्रविष्टाय धीमहि, एकदंताय वक्रतुण्डाय गौरीतनयाय धीमहि, गजेशानाय भालचन्द्राय श्रीगणेशाय धीमहि॥ गानचतुराय गानप्राणाय गानान्तरात्मने, गानोत्सुकाय गानमत्ताय गानोत्सुकमनसे, गुरुपूजिताय गुरुदेवताय गुरुकुलस्थायिने, गुरुविक्रमाय गुह्यप्रवराय गुरवे गुणगुरवे, गुरुदैत्यगलच्छेत्रे गुरुधर्मसदाराध्याय, गुरुपुत्रपरित्रात्रे गुरुपाखण्डखण्डकाय, गीतसाराय गीततत्त्वाय गीतगोत्राय धीमहि, गूढगुल्फाय गन्धमत्ताय गोजयप्रदाय धीमहि, गुणातीताय गुणाधीशाय गुणप्रविष्टाय धीमहि, एकदंताय वक्रतुण्डाय गौरीतनयाय धीमहि, गजेशानाय भालचन्द्राय

रघुपति राघव राजाराम, पतित पावन सीताराम

◾️ रघुपति राघव राजा राम पतित पावन सीता राम। ◾️ सीता राम सीता राम भज प्यारे तू सीता राम।। रघुपति राघव राजा राम पतित पावन सीता राम। ◾️ ईश्वर अल्लाह तेरे नाम सबको सन्मति दे भगवान।। रघुपति राघव राजा राम पतित पावन सीता राम। ◾️ रात को निंदिया दिन तो काम कभी भजोगे प्रभु का