Tag: Sanju Sharma

श्याम सलोने का प्यारा श्रृंगार है

दिलवाला रंगरसिया मनबसिया बड़ा प्यारा दिलवाला मतवाला सारे जग का उज्जियारा श्याम सलोने का प्यारा श्रृंगार है, कितना सुन्दर सांवलिया सरकार है। सजा दरबार है की छायी बहार है। ◾️ मोर छड़ी हाथों में विराजे मोर मुकुट सिर पे है साजे। मोर मुकुट सिर पे है साजे-2, कान में कुण्डल गल वैजन्ती हार है॥ कितना

जिनका दिल मोहन की चौखट का दीवाना हो गया

जिनका दिल मोहन की चौखट का दीवाना हो गया इस जहाँ से दूर उनका आशियाना हो गया बोलो श्याम श्याम श्याम-4 ◾️ कर लिया दीदार जिसने सांवले सरकार का बन गया नौकर हमेशा के लिए दरबार का रोज़ मिलने का प्रभु से ये बहाना हो गया इस जहाँ से दूर उनका… ◾️ ना रही परवाह

आपन तोह खाटूवाला ये लीले घोड़े वाला

अपना तो खाटूवाला, ये लीले घोड़े वाला सांवरा, भक्तों का रखवाला, ये मुरली वाला, भगतों का रखवाला अपना तो खाटूवाला, ये लीले घोड़े वाला सांवरा, भक्तों का रखवाला, ये मुरली वाला, भगतों का रखवाला॥ ◾️ श्याम की किरपा से कश्ती तुफानो में तैरती कितनी भी उची हो लहरें कश्ती को ना छेड़ती बन के माझी

होली खेले राधा से नंदलाल

रंग बरसे रंग बरसे रंग बरसे रंग बरसे रंग बरसे रंग बरसे रंग बरसे रंग बरसे होली खेले राधा से नंदलाल होली खेले ………….2 ◾️ रंग बरसे रंग बरसे रंग बरसे रंग बरसे होली खेले राधा से नंदलाल होली खेले ………….2 ◾️ सोच रही राधा रानी कैसे रंग श्याम को …2 काले को कैसे कर

सांवरा जब मेरे साथ है, हमको डरने की क्या बात है।

सांवरा जब मेरे साथ है, हमको डरने की क्या बात है। इसके रहते कोई कुछ कहे, बोलो किसकी यह औकात है॥ ◾️ छाये काली घटाए तो क्या, इसकी छतरी के नीचे हूँ मैं। आगे आगे यह चलता मेरे, मेरे मालिक के पीछे हूँ मैं। इसने पकड़ा मेरा हाथ है, मुझको डरने की क्या बात है॥

म्हाने खाटू में बुलाले बाबा श्याम

म्हाने खाटू में बुलाले बाबा श्याम……3 आयो मेलो फागण को ◾️ कई दिन सु मन में लागि जावा खाटू धाम……2 एक एक दिन गिन गिन कर काटा किया दिखे श्याम म्हाने खाटू में बुलाले बाबा श्याम……2 आयो मेलो फागण को ◾️ फागण मास रंगीलो थारे भागता के मन भावे…2 खाटू के मेले के माहि नाच

माँगा है मैंने श्याम से वरदान

माँगा है मैंने श्याम से वरदान एक ही……..2 तेरी कृपा बानी रहे जब तक है ज़िन्दगी जिस पर प्रभु का हाथ था वो पार हो गया ……..2 जो भी सरन में आ गया उद्धार हो गया……..2 ◾️ जिसको भरोषा श्याम पर जिसको भरोषा श्याम पर डूबा कभी नहीं माँगा है मैंने श्याम से वरदान एक

म्हारे सिर पे है बाबा जी रो हाथ

खाटू वाले रो साथ कोई तोह म्हारे काई करासी कोई तोह म्हारे काई करासी ◾️ जय कोई म्हारे श्याम धनि ने सांचे मन से ध्यावे काल कपाल श्री सांवरिये के भगत से घबरावे जे कोई पकड्यो है बाबा जी रो हाँथ कोई तोह बांको काई करासी म्हारे सर पे है बाबा जी रो हाँथ खाटू

हारे का तू है, सहारा सावरे, हमने भी तुमको, पुकारा सावरे

हारे का तू है, सहारा सावरे, हमने, भी तुमको, पुकारा सावरे, हारे का तू है, सहारा सावरे, हमने, भी तुमको, पुकारा सावरे, नहीं और सहा जाये, हम बोल कहा जाये हारे का तू है, सहारा सावरे, हमने, भी तुमको, पुकारा सीवर हारे का तू है, सहारा सावरे, हमने, भी तुमको, पुकारा सावरे, नहीं और सहा