Tag: Raju Punjabi

गणपति गजवदन विनायक, थाने प्रथम मनावा जी

गणपति गजवदन विनायक, थाने प्रथम मनावा जी, आना कानी मत ना करीयो, थारी किरपा चावा जी, गणपति गजवदन वीनायक, थाने प्रथम मनावा जी।। माथे मुकुट निरालो थाने, पार्वती का लाल कहावो, गणपति दुंद दुन्दाला है, रिद्धि सिद्धि थारे संग में सोहे, मूसे की असवारी है। गणपति गजवदन वीनायक, थाने प्रथम मनावा जी, आना कानी मत

सपने में रात में आय मुरलीवाला री

सपने में रात में आया मुरली वाला री मेरे दिल में बस गयो श्याम जपू मैं माला री ..2 ◾️ वो बोला सुन मेरी राधा माई तेरे बिना हू आधा मेरी बंसी तुझे पुकारे आ दौड़ी यमुना किनारे ..2 मुझे ग्वाल बाल में प्यार ग्वाल बाल में प्यारा कृष्ण गोपाला री मेरे दिल में बस

मेरी जान है राधा, तेरे पे क़ुर्बान मैं राधा

अरे रे मेरी जान है राधा, तेरे पे क़ुर्बान मैं राधा अरे रे मेरी जान है राधा, तेरे पे क़ुर्बान मैं राधा रह न सकूंगा तुमसे दूर मैं.. जब भी बने तू राधा, श्याम बनूँगा, जब भी बने तू सीता, राम बनूँगा.. तेरे बिना आधा सुबह शाम कहूँगा॥ ◾️ आसमां से राधा राधा नाम कहूँगा