Tag: Rajendra Jain

माधव के हाथ में जादू कि छडी हैVerified Lyrics 

माधव के हाथ में जादू कि छडी है वाहे में जान मेरी अटकी पड़ी है माधव के हाथ में जादू कि छडी है वाहे में जान मेरी अटकी पड़ी है साँझ ढले कदम तले तेरे कन्हइया साँझ ढले कदम तले तेरे कन्हइया बंसी बजईया हो मेरा बंसी बजईया बंसी बजईया हो सखी बंसी बजईया बाँकी

आ लौट के आजा हनुमान तुम्हे श्री राम बुलाते हैं।

लौट के आ लौट के आ आ लौट के आजा हनुमान तुझे श्री राम बुलाते है…2 लक्ष्मण के बचा ले तू प्राण..२ तुझे श्री राम बुलाते है आ लौट के आजा हनुमान तुझे श्री राम बुलाते है…2 गए पवन सूत लेन सजीवन अब तक क्यों नहीं आये…2 सेनापति सुग्रीव पुकारे…2 नर बानर कुम लाये सब

बजरंग बलि मेरी नाव चली मेरी नाव को पार लगा देना

बजरंग बलि मेरी नाव चली मेरी नाव को पार लगा देना संताप ह्रदय का मिटा देना बजरंग बलि मेरी नाव चली।। मै दास तो आपका जन्म से हूँ बालक और शिष्य भी धर्म से हूँ निर्लज्ज विमुख निज कर्म से हूँ चित से मेरा दोष भुला देना बजरंग बलि मेरी नाव चली।। दुर्बल गरीब और