Tag: Om Sai Ram

तू ही फ़कीर, तू ही है राजा

तू ही फ़कीर, तू ही है राजा तू ही है साईं, तू ही है बाबा साईनाथ, साईनाथ ।।१।। साईनाथ तेरे हजारों हाथ। साईनाथ तेरे हजारों हाथ।। जिस जिस ने तेरा नाम लिया तू हो लिया उसके साथ साईनाथ, साईनाथ ।।२।। इत देखूं तो तू लागे कन्हैया उत देखूं तो दुर्गा मैया नानक की मुस्कान है

शिरड़ी वाले साईँ बाबा आया है तेरे दर पे सवाली

ज़माने में कहाँ टूटी हुई तस्वीर बनती है तेरे दरबार में बिगड़ी हुई तक़दीर बनती है तारीफ़ तेरी निकली है दिल से आई है लब पे बन के क़व्वाली शिरड़ी वाले साईँ बाबा आया है तेरे दर पे सवाली लब पे दुआएँ आँखों में आँसू दिल में उम्मीदें पर झोली खाली शिरड़ी वाले … ओ

सतगुरु मैं तेरी पतंग, हवा विच उडदी जावांगी…

सतगुरु मैं तेरी पतंग, हवा विच उडदी जावांगी, हवा विच उडदी जावांगी। साईयां डोर हाथों छोड़ी ना, मैं कट्टी जावांगी॥ तेरे चरना दी धूलि साईं माथे उते लावां, करा मंगल साईंनाथ गुण तेरे गावां। साईं भक्ति पतंग वाली डोर, अम्बरा विच उडदी फिरा॥ बड़ी मुश्किल दे नाल मिलेय मेनू तेरा दवारा है। मेनू इको तेरा