Tag: Mohammed Rafi

मन तड़पत हरि दर्शन को आजVerified Lyrics 

मन तड़पत हरि दर्शन को आज मोरे तुम बिन बिगड़े सकल काज विनती करत हूँ रखियो लाज ॥ मन तड़पत हरि…॥ तुम्हरे द्वार का मैं हूँ जोगी हमरी ओर नज़र कब होगी सुन मोरे व्याकुल मन का बात ॥ मन तड़पत हरि…॥ बिन गुरू ज्ञान कहाँ से पाऊँ दीजो दान हरी गुन गाऊँ सब गुनी

तू ही फ़कीर, तू ही है राजा

तू ही फ़कीर, तू ही है राजा तू ही है साईं, तू ही है बाबा साईनाथ, साईनाथ ।।१।। साईनाथ तेरे हजारों हाथ। साईनाथ तेरे हजारों हाथ।। जिस जिस ने तेरा नाम लिया तू हो लिया उसके साथ साईनाथ, साईनाथ ।।२।। इत देखूं तो तू लागे कन्हैया उत देखूं तो दुर्गा मैया नानक की मुस्कान है

शिरड़ी वाले साईँ बाबा आया है तेरे दर पे सवाली

ज़माने में कहाँ टूटी हुई तस्वीर बनती है तेरे दरबार में बिगड़ी हुई तक़दीर बनती है तारीफ़ तेरी निकली है दिल से आई है लब पे बन के क़व्वाली शिरड़ी वाले साईँ बाबा आया है तेरे दर पे सवाली लब पे दुआएँ आँखों में आँसू दिल में उम्मीदें पर झोली खाली शिरड़ी वाले … ओ

बृंदाबन का कृष्ण कन्हैया…Verified Lyrics 

बृंदाबन का कृष्ण कन्हैया, सब की आँखो का तारा -2 मन ही मन क्यो जले राधिका मोहन तो है सब का प्यारा मन ही मन क्यो जले राधिका मोहन तो है सब का प्यारा बृंदाबन का कृष्ण कन्हैया, सब की आँखो का तारा -2 जमना तट पर नंद का लाला, जब जब रास रचाए रे