Tag: Gulshan Kumar

हे शम्भू बाबा मेरे भोले नाथ।

हे शम्भू बाबा मेरे भोले नाथ भजन लिरिक्स श्लोक – शिव नाम से है, जगत में उजाला। हरी भक्तो के है, मन में शिवाला॥ ◾️हे शम्भू बाबा मेरे भोले नाथ, तीनो लोक में तू ही तू। श्रधा सुमन मेरा, मन बेल-पतरी, जीवन भी अर्पण कर दूँ, हे शम्भु बाबा मेरे भोले नाथ॥ ◾️जग का स्वामी है

अजब है तेरी माया इसे कोई समझ ना पाया।

​ऊँचे ऊँचे मंदिर तेरे, ऊँचा तेरा धाम, हे कैलाश के वासी भोले, हम करते है तुझे प्रणाम। अजब है तेरी माया,इसे कोई समझ ना पाया, गजब का खेल रचाया,सबसे बढ़ा है तेरा नाम, भोलेनाथ भोलेनाथ भोलेनाथ ॥॥ ◾️अद्भुत है संसार यहाँ पर कई भूलेखे है, तरह तरह के खेल जगत मे हमने देखे है, तू है

आज मंगलवार है महावीर का वार है ये सच्चा दरबार है

आज मंगलवार है महावीर का वार है ये सच्चा दरबार है सच्चे मन से जो कोई ध्यावे उसका बेड़ा पार है।। चैत्र सुदी पूनम मंगल का जनम वीर ने पाया है लाल लंगोट गदा हाथ में सर पर मुकुट सजाया है शंकर का अवतार है महावीर का वार है सच्चे मन से जो कोई ध्यावे

हे भोले शंकर पधारो बैठे छुप के कहाँ।

हे भोले शंकर पधारो, बैठे छुप के कहाँ, हे भोले शम्भू पधारो, बैठे छुप के कहाँ, गंगा जटा में तुम्हारी, हम प्यासे यहाँ, महा-सती के पति, मेरी सुनो वंदना, आओ मुक्ति के दाता, पड़ा संकट यहाँ, हे भोले शंकर पधारो बैठे छुप के कहाँ॥ ◾️भगीरथ को गंगा, प्रभु तुमने दी थी, सगर जी के पुत्रों

हनुमान जी हनुमान जी दया भक्तो पे करदो हनुमान जी

हनुमान जी हनुमान जी, दया भक्तो पे करदो हनुमान जी, तेरे द्वार पे जो आए, फूल भावना के लाए, उनकी झोलियाँ भर दो हनुमान जी, हनुमान जी हनूमान जी, दया भक्तो पे करदो हनुमान जी।। ◾️हे कंचन वर्ण प्रभु रघुवर के प्यारे, दिन हिन निर्बल संग सहारे, तेरे चरण कमलो में आए पुजारी, तेरे चरण

सुबह सुबह ले शिव का नाम कर ले बन्दे यह शुभ काम।

सुबह सुबह ले शिव का नाम, कर ले बन्दे यह शुभ काम, सुबह सुबह ले शिव का नाम, शिव आयेंगे तेरे काम॥ ◾️ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय खुद को राख लपेटे फिरते, औरो को देते धन धाम, देवो के हित विष पी डाला, नील कंठ को कोटि प्रणाम, नील कंठ को कोटि प्रणाम, सुबह-सुबह