एक ही नाम जपो सुबह शाम, राम राम राम बोलो राम राम राम

राम राम राम राम राम राम
बोलो राम राम राम राम बोलो राम
बोलो राम राम राम राम बोलो राम

एक ही नाम जपो सुबह शाम
राम राम राम बोलो राम राम राम

एक ही नाम जपो सुबह शाम
राम राम राम बोलो राम राम राम

कौशल्या के प्यारे राम
दशरथ राजदुलारे राम
धन्य है अयोध्या धाम
राम राम राम बोलो राम राम राम

शिव का धनुष तोड़ दिए जब
सीताजी के मन भाये तब
सीता को वर लाये राम
राम राम राम बोलो राम राम राम

पिता की आज्ञा को सर धरके
सुख त्यागे सब राजमहल के
वन की और किया प्रस्थान
राम राम बोलो राम राम राम

छल से माँ सीता को हरने
ब्राह्मण वेश धरा रवां ने
बहुत ही दुःख पायो सिया राम
राम राम बोलो राम राम राम

संकट मोचन श्री हनुमान
ले मुद्रिका कियो पृष्ठं
माँ देख कियो प्रणाम
राम राम राम बोलो राम राम राम

वन उपवन सब दियो गिरे गिराए
आग लगाडी पूछ घुमाये
लंका में छाया कोहराम
राम राम राम बोलो राम राम राम

अंत समाये रावन ने जाना
मुक्त करो हे श्री भगवान
मुख से बोले जय श्री राम
राम राम राम बोलो राम राम राम

गीता की 151 चुनिंदा पंक्तियों का संकलन| आशा है की यह पंक्तियाँ आपने जीवन में सकारात्मकता का संचार करेगी| जय श्री कृष्णा !

प्रेरणादायक अनमोल शायरी-Secrets of Success

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *