ये गर्व भरा मस्तक मेरा प्रभु चरण धूल तक झुकने दे

ये गर्व भरा मस्तक मेरा प्रभु चरण धूल तक झुकने दे, अहंकार विकार भरे मन को, निज नज़्म की माला जपने दे, ये गर्व भरा मस्तक मेरा.. ◾️ मैं मन के मैल को धो ना सका,ये जीवन तेरा हो ना सका, हाँ..हो ना सका,मैं प्रेमी हूँ, इतना ना झुका, गिर भी जो पड़ूँ तो उठने

मैली चादर ओढ़ के कैसे द्वार तुम्हारे आऊँ

मैली चादर ओढ़ के कैसे, द्वार तुम्हारे आऊँ। हे पावन परमेश्वर मेरे, मन ही मन शरमाऊँ॥ ◾️ मैली चादर ओढ़ के कैसे, द्वार तुम्हारे आऊँ। मैली चादर ओढ़ के कैसे तूने मुझको जग में भेजा, निर्मल देकर काया। ◾️ आकर इस संसार मैंने, इसको दाग लगाया। जनम जनम की मैली चादर, कैसे दाग छुड़ाऊं॥ ◾️

ये माँ अंजनी का लाला ये माँ अंजनी का लाला है देव बड़ा बल वाला

ये माँ अंजनी का लाला ये माँ अंजनी का लाला है देव बड़ा बल वाला और ना कोई कर पाया जो वो इसने कर डाला ◾️बालापन में सूरज को जब समझ के फल था मुख लिया बदल दिया था नियम श्रष्टि का दिन में भी था अँधेरा किया विनती करि मिल देवो ने तब मुह

ओ लाल लंगोटे वाले प्रभु तेरे रूप निराले

ओ लाल लंगोटे वाले प्रभु तेरे रूप निराले तेरी मूरत मन को भाये सिंदूरी श्रंगार पे बाबा हम सब बलि बलि जाये ओ लाल लंगोटे वाले प्रभु तेरे रूप निराले।। शिव शंकर के रूद्र रूप में अंजनी घर अवतारे नारायण के रक्षक बनकर उनके कारज सारे राम के काज सवारन को कोई तुमसा नजर ना

मैंने छोड़ा जगत जंजाल, राम गुण गाने लगा

मैंने छोड़ा जगत जंजाल, राम गुण गाने लगा, राम नाम की धुन में बहकर, जीवन सफल बनाने लगा, मैने छोड़ा जगत जंजाल, राम गुण गाने लगा।। ◾️ ये माया है बहता पानी, ना रहे राजा ना रही रानी, हम तुम सब की यही कहानी, यह दुनिया है आनी जानी, नाम राम का सबसे सच्चा, नाम

मैं तो राह बुहारू मेरे राम आएंगे

रामा रामा रटते रटते बीती रे उमरिया राम रमैया कब आओगे भक्तन की नगरीय ◾️ मैं तो राह बुहारू मेरे राम आएंगे बैठी बाट निहारु मेरे राम आएंगे मैं तो राह बुहारू मेरे राम आएंगे बैठी बाट निहारु मेरे राम आएंगे ◾️ राम लखन मेरी कुटिया में आएंगे झूठे बेरो का प्रभु भोग लगाएंगे मैं

म्हारा बालाजी सालासर वाला सालासर लाग्यो दरबार बाला थारो प्यार चाहिए।।

म्हारा बालाजी सालासर वाला सालासर लाग्यो दरबार बाला थारो प्यार चाहिए।। ◾️बाबा में चाहु दर्शन थारा थारे बिना अब ना होता गुजारा कबसे पड्यो थारे द्वार बाला थारो प्यार चाहिए म्हारा बालाजी सालासर वाला सालासर लाग्यो दरबार बाला थारो प्यार चाहिए।। ◾️मंदिर में थारी सेवा करूँगा झाड़ू करूँगा तेरा पानी भरूँगा चाहे बीते जनम हजार

मैने ध्यान तेरा ही किया है मैने नाम तेरा ही लिया है

मैने ध्यान तेरा ही किया है, मैने नाम तेरा ही लिया है, मैने ध्यान तेरा ही किया है, मैने नाम तेरा ही लिया है, अब चाहे जो हो जाये, बाबा तेरा ही नाम जपूं शरण मेँ, मैँ तेरी तरूँ॥ तेरा ही… मैने ध्यान तेरा ही किया है, मैने नाम तेरा ही लिया है, ◾️मुराद यही

ओ मेरे बाबा बजरंगी तेरी जय जयकार मनाएंगे

ओ मेरे बाबा बजरंगी तेरी जय जयकार मनाएंगे जय जयकार मनाएंगे तेरी जय जयकार मनाएंगे ओ मेरे बाबा बजरंगी तेरी जय जयकार मनाएंगे।। करम खोल दे उन भक्तो के जो द्रष्टि से वंचित है द्रष्टि अगर मिल जाएगी तो तेरा दर्शन पाएंगे ओ मेरे बाबा बजरँगी तेरी जय जयकार मनाएंगे।। करम खोल दे उन भक्तो

मेरे राम श्रीराम कुटिया में कब पधारेंगे

मेरे राम श्रीराम कुटिया में कब पधारेंगे। बूढी भिलनी को प्रभु कब उधारेंगे। मेरे.. ◾️ नाना पुष्पों से रस्ता सजाऊँगी में, राम ही राम बस गुनगुनाउंगी में। उनका श्रृंगार कर हम सवाँरेंगे, मेरे राम श्रीराम कुटिया में कब पधारेंगे। ◾️ पैर धोकर के मैं चरणामृत पाऊँगी, दोनों कर जोड़कर उनको सर नाउंगी। काला तिल देके