होली आई रे कन्हाई, होली आई रेLyrics Verified 

होली आई रे कन्हाई, होली आई रे
होली आई रे कन्हाई, रंग छलके
सुना दे जरा बाँसुरी…..2

बरसे गुलाल रंग मोरे आंगनवा
अपने ही रंग में रंग दे मोहे सजनावा
हो देखो नाचे मोरा मनवा….2

बरसे गुलाल रंग मोरे आंगनवा, जी मोरे आंगनवा,
अपने ही रंग में रंग दे मोहे सजनावा,
तोरे कारण घर से आई, तोरे कारण हो,
तोरे कारण घर से आई हूँ निकलके,
सुना दे जरा बाँसुरी….2

छुटे ना रंग ऐसी रंग दे चुनरिया,
धोबनिया धोए चाहे सारी उमरिया
हो मन को रंग देगा साँवरिया,
मोहे भाए ना हरजाई, मोहे भाए ना
मोहे भाए ना हरजाई रंग छलके,
सुना दे जरा बाँसुरी….2

लकड़ी जल कोयला भई और कोयला जल भयो राख
मैं पापन ऐसी जली ना कोयला भई ना राख
होली घर आई तू भी आ जा मुरारी
मन ही मन राधा रोये बिरहा की मारी
हो नाही मारो पिचकारी

काहे छोड़ी रे कलाई, काहे छोड़ी रे
काहे छोड़ी रे कलाई संग चलके सुना दे जरा बाँसुरी

आयी रे आयी रे होली आयी रे…
आये रे आयी रे होली आयी रे….
होली आयी रे आयी रे होली आयी रे….

चुनिंदा गुड मॉर्निंग और गुड नाईट के 300+ सन्देश। भेजें अपनों को कार्ड बनाकर।

एक बेहतर और सफल जिंदगी के लिए हमारे नजरिये और सोच का सकारात्मक होना बेहद जरुरी है। आज हम आपको कुछ ऐसे ही सुविचार बता रहे हैं जिन्हे पढ़कर आपके सोचने का नजरिया बदल जायेगा।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *