श्याम से श्यामा बोली, चलो खेलेंगे होली।Lyrics Verified 

श्याम से श्यामा बोली, चलो खेलेंगे होली।
श्याम से श्यामा बोली, चलो खेलेंगे होली।।

बाग़ है यह अलबेला, लगा कुंजो में मेला-2
हर कोई नाचे गाये, रहे कोई ना अकेला-2

झूम कर सब ये बोलो, हर बरस आये यह होली-2
चलो खेलेंगे होली, चलो खेलेंगे होली-2
श्याम से श्यामा बोली, चलो खेलेंगे होली-2

कभी वृन्दावन खेले, कभी बरसाने खेले-2
कभी गोकुल में खेले, कभी बरसाने खेले-2

रंगी नंदगाव की गलीयाँ, रंगी भानु की हवेली-2
चलो खेलेंगे होली, चलो खेलेंगे होली-2
श्याम से श्यामा बोली, चलो खेलेंगे होली-2

ग्वाल तुम संग में लाना, मेरे संग सखीयाँ होंगी-2
उन्हें तुम रंग लगाना, चाह वो करती होंगी-2

तुम्हे मैं दूंगी गारी, काहे खेलत हो होरी-2
चलो खेलेंगे होली, चलो खेलेंगे होली-2
श्याम से श्यामा बोली, चलो खेलेंगे होली-2

कभी गुलाल उडाए, कभी मारे पिचकारी-2
कभी रंग जाए राधा, कभी रंग जाए बिहारी-2

है कैसा मस्त महिना, है कैसी सुन्दर जोड़ी-2
चलो खेलेंगे होली, चलो खेलेंगे होली-2
श्याम से श्यामा बोली, चलो खेलेंगे होली-2

गीता की 151 चुनिंदा पंक्तियों का संकलन| आशा है की यह पंक्तियाँ आपने जीवन में सकारात्मकता का संचार करेगी| जय श्री कृष्णा !

अपना लक्ष्य हासिल करें - 33 Tips to Achieve Goal क्या आप अपने लक्ष्य को पाना चाहते हैं? तो इसका जवाब होगा हाँ तभी तो आप यहाँ हैं।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *