मैं तो कृष्ण भजु या राम मेरे दोनों में अटके प्राण✓ Lyrics Verified 

मैं तो कृष्ण भजु या राम : कृष्ण जी और राम जी दोनों एक ही है। एक भगत की भावना को इस भजन में बहुत ही सूंदर शब्दों में व्यक्त किया गया है।

 

श्री राम…… राम…….राम……हो हो राम……
राम कृष्ण दोहु एक…. है एक है …… एक है
राम कृष्ण दोहु एक…. है अंतर नहीं राजेश
एक के नयन गंभीर है… एक के चपल विशेष
चपल विशेष…. मेरे राम।

मैं कृष्ण भजु या राम-२
मैं कृष्ण भजु या राम। रा..आ..म
मैं तो कृष्ण भजु या राम, रा..आ..म रे -२
मेरे दोनों में… अटके… प्राण, प्रा…न रे
मैं कृष्ण भजु या राम-२
अब कृष्ण भजु या राम-२

1.  एक के हाथ में धनुष बाण है ,धनुष बअ…..ण है
एक के हाथ में धनुष बाण है , दूजा छेड़े मुरली में तान रे -२
मैं तो कृष्ण भजु या राम, रा..आ..म रे -२
अब तो कृष्ण भजु या राम, रा..आ..म रे -२

2. एक को बंश है सूर्य वंशी, एक को व…न…स..इ -२
एक को बंश है सूर्य वंशी, दूजे को बंश है भानु-२
बैल चढ़े शिव शंकर आये , तो गरुड़ चढ़े…. भगवान
मैं तो कृष्ण भजु या राम, रा..आ..म रे -२
अब तो कृष्ण भजु या राम, रा..आ..म रे -२

3. कृष्ण जी देते मोक्ष पदार्थ, कृष्ण…न….जी…इ -2
कृष्ण जी देते मोक्ष-२
कृष्ण जी देते मोक्ष पदार्थ, श्रीराम देते ग्यान रे -2
सूरदास..जी पे किरपा दोनों की-2
दोनों ही किरपा निधान… रे
मैं तो कृष्ण भजु या राम, रा..आ..म रे -२
अब तो कृष्ण भजु या राम, रा..आ..म रे -२
कृष्ण भजु या राम-3

गुरु नानक देव जी के अनमोल विचार हिंदी और अंग्रेजी में

Just try out this Happy New Year Photo Frames Cards

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *