Category: Shri Ram Bhajan

ओ मनवा राम सुमेर ले रे ओ जीवड़ा राम सुमेर ले रे✓ Lyrics Verified 

ओ मनवा राम सुमेर ले रे, ओ जीवड़ा राम सुमेर ले रे आसी तेरे काम नाम कीरे, बालद(बोगी) भर ले। बालद भर ले रे मेरे मनवा, बालद भर ले रे, बालद भर ले रे ओ मनवा राम सुमेर ले रे , ओ जीवड़ा राम सुमेर ले रे आसी तेरे काम नाम की, बालद भर ले।

क्या लेकर तूं आया जगत में , क्या लेकर तूं जायेगा।Lyrics Verified 

टेर : क्या लेकर तूं आया जगत में , क्या लेकर तूं जायेगा। सोच समझ ले – रे ,मन मूरख आखिर में पछतावेगा।। भाई बन्धु और मित्र प्यारे , मर्घट तक संग जायेंगे , सवार्थ के दो आंसू देकर लॉट -लॉट घर आवेंगे , कोई न तेरे साथ चलेगा ,एक अकेला जावेगा। क्या लेकर तूं…..

नर खोव मतना रे काया दुपटो जरी को✓ Lyrics Verified 

दोहा : धन चाहे तो दान कर मुक्ति चाहे तो भज राम हाड़ मास का पुतला बिन भजन किस काम टेर : नर खोव मतना रे काया दुपटो जरी को। नर जपले क्योनी रे सांचो नाम हरी को।। नर खोव मतना रे……।1। काम न करयो तो, मने धोखो कोणी आवे। मन धोखो आवे रे, माया

क्या लेकर तूं आया जगत में, क्या लेकर तूं जावेगा✓ Lyrics Verified 

टेर : क्या लेकर तूं आया जगत में, क्या लेकर तूं जावेगा सोच समझ ले रे मन मुर्ख, आखिर में पछतावेगा भाई बन्धु और मित्र प्यारे, मर्घट तक संग जायेगे सवार्थ के दो आंसू देकर, लौट लौट घर आवेगे कोई न तेरे साथ चलेगा, एक अकेला जावेगा क्यों जग में अभिमान करे तूँ और कहे

आधी रात जीवन की ढल गई होगा अभी सवेर रे✓ Lyrics Verified 

टेर : आधी रात जीवन की ढल गई होगा अभी सवेर रे। आजा बन्दे प्रभु शरण में काहे लगावे देर रे।। चार दिनों का जीवन तेरा, दुनिया चलती चाकी रे, पीस रहे है सभी इसमें, कोण बचा न बाकि रे, अगर कहीं बचना चाहे तो, राम माला फेर रे।1। आधी रात जीवन…. आत्मा शनि का

भज राम नाम सुखदाई भजन करो भाई ये मेला दो दिन का।Lyrics Verified 

टेर : भज राम नाम सुखदाई भजन करो भाई ये मेला दो दिन का। ये तन है जंगल की लकड़ी आग लगे जल जावे, भजन करो भाई, ये मेला दो दिन का। भज राम नाम….. ये तन है कागज की पुड़िया हवा लगे उड़ जावे भजन करो भाई, ये मेला दो दिन का। भज राम

मुझे कोई लादे रे राम नाम की माला।Lyrics Verified 

हम लाये है आपके लिए प्रभु श्री राम जी का बहुत ही प्यारा भावपूर्ण भजन भक्तों को भाव विभोर करने के लिए श्री रामचंद्र जी का बहुत सुन्दर भजन के लिरिक्स। जय श्री राम। दोहा : मनका फेरत जुग भया, फिराना मन का फेर, कर का मनका डार दे मनका मनका फेर। टेर : मुझे

आओ राम जी भोग लगावो, निज भक्तों का मान बढ़ाओLyrics Verified 

टेर : आओ राम जी भोग लगावो, निज भक्तों का मान बढ़ाओ। दुर्योधन का मेवा त्यागा साग विदुर के घर खाओजी। कैरव कुल के घट की जानी भगत को मान बढ़ायो।। आओ राम जी….. कर्मा के घर खीचड़ खायो रुच रुच भोग लगायो जी। कई दिनों तक दर्शन दीन्हा सुबह श्याम घर आयोजी।। आओ राम

तूं तो हीरो सो जन्म गँवायो, भजन बिना बावरा✓ Lyrics Verified 

दोहा : राम भजन में आलसी, भोजन में होशियार। तुलसी ऐसे जीव को बार बार धिकार।। टेर : तूं तो हीरो सो जन्म गँवायो, भजन बिना बावरा। कड़े न आयो साध सांगत में कड़े न हरि गुण गायो। पच पच मरयो बैल की नांई सोय रहो उठ खायो।। ये संसार हाट बणिये की सब जग

बांगा दर्शन खोटा रे, जीका कदे राम नाम न भजे।✓ Lyrics Verified 

दोहा : कबीरा सब जग निर्धना धनवंता ना कोय। धनवंता सोई जानिए जाके राम नाम धन होय।।टेर : बांगा दर्शन खोटा रे, जीका कदे राम नाम न भजे। तीखा तीखा तिलक लगावे लम्बा राखे चोटा। राम नाम तो आव कोणी कर्म कमावे खोटा।।बांगा दर्शन…..साधु बन मंदिर में बैठे नाम कढाव मोटा।राम नाम तो लेवे कोणी