Category: Khatu Shyam Bhajan

या विध गोविन्द भोग लगायो भगत बछल हरि नाम कहायो✓ Lyrics Verified 

शास्त्रों के अनुसार भगवान को आरती के बाद भोग लगाया जाता है। आज हम कृष्ण जी का बहुत ही सूंदर भोग लेके आये है। जो निसंदेह आपको गोविन्द जी के साथ भाव से जोड़ देगा और आपको मन में शांति और श्रद्धा का भाव पैदा करेगा तो आएंगे मेरे साथ इस कृष्णा के भोग को

सांवरे जब तूं मेरे साथ है सांवरे सर पे तेरा हाथ है✓ Lyrics Verified 

आ…. आ ये प्रार्थना दिल की, बेकार नहीं होगी -4 पूरा है भरोसा, मेरी हार नहीं होगी-2 सांवरे… जब तूं मेरे साथ है। सांवरे…सर पे तेरा हाथ है-2 ★ विश्वास नानी का, द्रोपदी का रंग लाया -4 बहना…आ का भाई बन, खुद सांवरा आया -2 इज़्ज़त ज़माने में, शर्मशार नहीं होगी -2 पूरा है भरोसा,

मेरे श्याम जी आएंगे जरा देर लगे गी,Verified lyrics 

मेरे श्याम जी आएंगे जरा देर लगेगी, हम उन्हें रिजायेगे जरादेर लगेगी, मेरे श्याम जी आएंगे….. मतलब की दुनिया तो पल भर में जुड़ जाती, मुश्किल की घडी में ये पर्दो में छिप जाती, पर्दो को उठाना है जरा देर लगे गी, मेरे श्याम जी आएंगे….. पल भर की भगति से मेरे श्याम नहीं मिलते,

जब से देखा तुम्हे, जाने क्या हो गया, ए खाटू वाले

जब से देखा तुम्हे, जाने क्या हो गया, ए खाटू वाले श्याम मैं तेरा हो गया । तू दाता है तेरा, पुजारी हूँ मैं, तेरे दर का ए बाबा, भिखारी हूँ मैं । तेरी चौखट पे दिल है, मेरा खो गया, ए मुरली वाले श्याम मैं तेरा हो गया ॥ जब से मुझको ए श्याम,

कोई प्यार से मेरे श्याम को सजादे,Verified lyrics 

कोई प्यार से मेरे श्याम को सजादे गजब हो जायेगा गजब हो जायेगा||1|| गंगा जल से इन्हें नहलाओ, सारे जमाने का इतर लगाओ फिर रंग बसंती चोला पहनाले गजब हो जायेगा गजब हो जायेगा||2|| ज़िन्दगी के दुखो से कभी, उदास नहीं होते यूपी में रहने वाले कभी निराश नहीं होते इन हाथो की लकीरो पे

कुछ तो है सरकार तेरी सरकारी में, क्या रखा है झूठ..Verified lyrics 

कुछ तो है सरकार तेरी सरकारी में, क्या रखा है झूठी दुनियादारी में, दो पहलु संसार के दो रुख वाली रीत, दिन अच्छे तो सब अपने दूरबीन मिले ना मीत, साथ तेरा.. मिले-2, लाचारी में, कुछ तो है सरकार तेरी सरकारी में, मौसम से बदले यहाँ, लोगो का व्यवहार झूठे रिश्ते, झूठे नाते, झूठा है

श्री खाटू श्याम चालीसा – श्री गुरु चरण ध्यान धर,

॥दोहा॥ श्री गुरु चरण ध्यान धर, सुमिरि सच्चिदानन्द। श्याम चालीसा भजत हूँ, रच चैपाई छन्द॥ ॥चौपाई॥ श्याम श्याम भजि बारम्बारा, सहज ही हो भवसागर पारा। इन सम देव न दूजा कोई, दीन दयालु न दाता होई। भीमसुपुत्र अहिलवती जाया, कहीं भीम का पौत्र कहाया। यह सब कथा सही कल्पान्तर, तनिक न मानों इनमें अन्तर। बर्बरीक

तुम्हारी शरण मिल गई सांवरे, तुम्हारी कसम…Verified lyrics 

तुम्हारी शरण मिल गई सांवरे, तुम्हारी कसम ज़िंदगी मिल गई, हमें देखने वाला कोई न था, तुम जो मिले बंदगी मिल गई, बचाते ना तुम डूब जाते कन्हैया, कैसे लगा…ते-किनारे पे नैया, गमें ज़िंदगी से परेशान थे, रोते लबो को हंसी मिल गई, समज के अकेला सताती है दुनिया, सितम पे सितम हम पे… ढाती

दुनिया से मैं हारा हूँ, तक़दीर का मारा हूँ

दुनिया से मैं हारा हूँ तक़दीर का मारा हूँ …2 ◾️ जैसा भी हूँ अपना लो मैं बालक तुम्हारा हूँ ◾️ दुनिया से मैं हारा हूँ तक़दीर का मारा हूँ …2 ◾️ जैसा भी हूँ अपना लो मैं बालक तुम्हारा हूँ ◾️ दुनिया से मैं हारा हूँ तक़दीर का मारा हूँ …2

रिश्ता तू बनाले श्याम से

तेरे हर दुःख में तेरे हर दुःख में हर सुख में यही काम आएगा. रिश्ता तू बना ले श्याम से आराम पायेगा …2 रिश्ता तू बना ले श्याम से आराम पायेगा …2 ◾️ ये ऐसा सच्चा साथी हर दुःख में साथ निभाए इस जग में हार गया जो उसे बढ़ कर गले लगाए जब ठुकरा