Category: Hanuman Bhajan

सिया राम के काज सँवारे अंजना के लाल दुलारे✓ Lyrics Verified 

टेर : सिया राम के काज सँवारे अंजना के लाल दुलारे। रावण ने हड़ी सिया माता ढूँढे राम लखन दोउ भ्राता, बन बन ढ़ूंढ़त दोउ हारे, तब आ गए पवन दुलारे।।1।। सिया माता के सुधल्याये, कपियन के प्राण बचाये, फल खाये और बाग उजाड़े, श्रीराम के पास पधारे।।2।। मूर्छित पड़े लछमन भाई, सरजीवन लाये पिलाई,

अगर तुझे भय भूत सतावे, तो बालाजी का शरणा है

टेर : अगर तुझे भय भूत सतावे, तो बालाजी का शरणा है, पुन्यु मंगल शनिवार को, धुप धयान भी करणा है। रोग का नाश करे बालाजी पीड़ा सबकी हरते है, जो कोई पूजा पाठ करे तो आनंद मंगल करते है, मंगल करे अमंगल टारे महावीर बल कर्णा है। बालाजी बलवान है भाई बज्र अंग के

हमें राम का दर्श करादो जी। अंजनी का लाल✓ Lyrics Verified 

दोहा : वर दीजो हनुमान अब ,किरपा करो हे नाथ ,राम राम रटता रहू, हो भक्तो का साथ। टेर : हमें राम का दर्श करादो जी, हे अंजलि का लाल। था तुलसीदास दास बड़ा भागी, जाके राम लखन हिये लागी ,तेरी कृपा से किस्मत जागी जी                  

ओ महावीर बजरंगी मैं आया शरण तिहारी।Lyrics Verified 

दोहा : शरण शरण मैं आपकी, महावीर हनुमान, शरण पड़े को आन उबारों, पवन पुत्र बलवान। टेर : ओ महावीर बजरंगी, मैं आया शरण तिहारी। शरण तिहारी मैं आया हूँ, संग में संकट लाया हूँ, अनजाने में फिरा भटकता, पहले बहुत दुःख पाया हूँ, अब संकट हर ले मेरा, ओ संकट मेटन हारी । ओ

जय जय कपि नायक जन, सुखदायक महावीर बलवाना,Lyrics Verified 

जय जय कपि नायक जन, सुखदायक महावीर बलवाना, जय संकट मोचन भव भय मोचन, मंगल भवन सुजाना ।।1।। जय जय दुःख हारक जन उपकारक, परमानन्द निधाना, जय जय अविनाशी आनंद राशि, पवन तनय हनुमाना ।।2।। जय परम कृपाला नयन विशाला, सुर नर मुनि हितकारी, जय सब गुण सागर दीन-दयाकर, पापन के अघहारी ।।3।। जय अधत

अंजनी कुमार थारी महिमा अपार है मेरी बिगड़ी बनाने वाले✓ Lyrics Verified  

हे बिगड़ी बनाने वाले, मेरी बिगड़ी बनाने वाले-2 ओ दुनिया के रखवाले, बाबा दुनिया के रखवाले थारी जय जय कार है। अंजनी कुमार थारी महिमा अपार है -२ हे बिगड़ी बनाने वाले, बाबा बिगड़ी बनाने वाले-2 थारी जय जय कार है। अंजनी कुमार थारी महिमा अपार है -२ शिव शंकर के अवतारी बाबा-२ पवन सूत

हम आज सभी मिलकर, तेरी रात जगायेंगे।

हम आज सभी मिलकर, तेरी रात जगायेंगे। ओ महावीर सुनलो, तेरी महिमा गायेंगे। तुझसे मिलने को भला, कोई रोकेगा कैसे कदमों से लिपट जाएं, वृक्ष की लता जैसे सपनों में मिले थे तुम, अब सामने पाएँगे। हम आज सभी…. पूरी होगी तृष्णा, प्यासे इन नयनन की। माथे से लगा लेंगे, धूलि तेरे चरणन की। चरणामृत

सुन ओ अंजनी के लाला, मुझे तेरा एक सहारा

सुन ओ अंजनी के लाला, मुझे तेरा एक सहारा मुझे अपनी शरण में लेलो, में बालक हूँ दुखियारा माथे पर तिलक विशाला, कानों में सूंदर बाला थारे गले राम की माला, ओ लाल लगोटे वाला थारो रुप जगत से न्यारा, लगे है सबसे प्यारा मुझे अपनी शरण में…. प्रभु सालासर के मांही, थारा मंदिर है

तेरे तन पे सिंदूरी चोला तेरे तन पे-२, सिन्दूरी चोला

तेरे तन पे सिंदूरी चोला तेरे तन पे – २ सिन्दूरी चोला के बाबा लगे बड़ा प्यार प्यारा। के मैंने ले लिया तेरा सहारा हो हो…. तेरे सिर पर मुकुट विराजे कानों में कुण्डल साजे। क्या कहूँ छवि तेरी प्यारी, तेरे घट में राम विराजे। तेरी जगमग जोत जले है दर्शन पर पाप कटे है

म्हारे घर आँगन में आ जाइयो, महावीर हनुमान

म्हारे घर आँगन में आ जाइयो, महावीर हनुमान महावीर हनुमान- मैं थारो सेवक हूँ नादान केवड़ा गुलाब सुं स्नान कराऊँगा अंग-अंग थारे म्हैं सिंदूर लगाऊगा लाडू चूरमे गो भोग लगा जइयो – महावीर हनुमान लाल लंगोटो ध्वजा नारियल चढ़ाऊंगा फेर थारे माथे पे तिलक लगाऊंगा म्हारो आके मान बढ़ा जइयो – महावीर हनुमान अजंनी के