रामा केहि विधि आऊं मैं पास तिहारेVerified Lyrics 

रामा केहि विधि आऊं मैं पास तिहारे रामा केहि बिधि, रामा केहि बिधि बादर बन उड़ जाऊं अवध को बरसी बरसी पखारू चरण को मोर बनूँ उत नाच दिखाऊं रामा केहि बिधि आऊं मैं पास तिहारे बनूँ शिला जो तुम चरण छुआ दो बांस बन जाऊं तुम धनु ही बना लो काठ होय बनी जाऊं

लड्डू गोपाल मेरा, लड्डू गोपाल।Verified Lyrics 

लड्डू गोपाल मेरा, लड्डू गोपाल। छोटा सा है लला मेरा, करतब करे कमाल, सबसे पहले मुझे जगाओ, फिर गंगा जल से नहलाओ, नई नई पोशाक बनाओ, बदल बदल कर के पहनाओ. केसर चन्दन तिलक लगाओ, गल फूलो की माल, लड्डू गोपाल मेरा… सिर पे मोर मुकुट की पगड़ी, कमर बांध सोने की तगड़ी, नए नए

निकल न जाए हाथ से तेरे मौका ये अनमोल,Verified Lyrics 

निकल न जाए हाथ से तेरे मौका ये अनमोल, जय माता दी बोल बंदे जय माता दी बोल | आके देख ले सजा दरबार अम्बे रानी का, सुख वरदानी का जग कल्याणी का, देती छप्पर फाड़ के मैया झोली ले तू खोल, जय माता दी बोल बंदे जय माता दी बोल| कौन जाने कब नसीबा

दाता नहीं है श्रीराम के जैसा,Verified Lyrics 

दाता नहीं है श्रीराम के जैसा, सेवक नहीं है हनुमान के जैसा, आंख उठा कर देखा जग में सारा जगत भिखारी, काम क्रोध मद लोह मोह में लिपटे सब नर नारी, पाप नहीं कोई अभिमान के जैसा, दाता नहीं है श्री राम के जैसा, पड़ कर देखो रामायण बस एक ही बात सिखाये, वो नर

अस्सी तेरे तेरे झंडेवाली माँVerified Lyrics 

अस्सी तेरे तेरे झंडेवाली माँ रखले गरीब जानके तेरे सिवा सड़ा होर न कोई, तेरे दर वाजो किते मिलदी न धोई, ऐसी नौकर तेरे झंडेवाली माँ रखले गरीब जानके, जद भी भुलावे दाती तेरे दर आवा, भगता दे नाल बह के गुण तेरे गावा, साहनु सेवा च लगा ले झण्डेवालिये रख ले गरीब जान के,

आज हरी आये, विदुर घर पावना॥Verified Lyrics 

आज हरी आये, विदुर घर पावना॥ आज हरी आये, विदुर घर पावना॥ विदुर नहीं घर मैं विदुरानी ,आवत देख सारंग प्राणी । फूली अंग समावे न चिंता ॥ ,भोजन कंहा जिमावना ॥ केला बहुत प्रेम से लायीं, गिरी गिरी सब देत गिराई । छिलका देत श्याम मुख मांही ॥,लगे बहुत सुहावना, इतने में विदुरजी घर

होली खेल रहे नंदलाल वृंदावन..Verified Lyrics 

होली खेल रहे नंदलाल वृंदावन कुञ्ज गलिन में। वृंदावन कुञ्ज गलिन में, वृंदावन कुञ्ज गलिन में॥ होली खेल रहे नंदलाल वृंदावन कुञ्ज गलिन में। वृंदावन कुञ्ज गलिन में, वृंदावन कुञ्ज गलिन में॥ नंदगांव के छैल बिहारी, बरसाने कि राधा प्यारी, हिलमिल खेले गोपी ग्वाल, वृंदावन कुञ्ज गलिन में॥ होली खेल रहे नंदलाल वृंदावन कुञ्ज गलिन

जब से देखा तुम्हे जाने क्या हो गया,Verified Lyrics 

जब से देखा तुम्हे जाने क्या हो गया, ओ शिरडी वाले बाबा मैं तेरा हो गया, तू दाता है तेरा पुजारी हूँ मैं, तेरे दर का ए बाबा भिखारी हूँ मैं, तेरी चौखट पे दिल है मेरा खो गया, ओ शिरडी वाले बाबा मैं तेरा हो गया, जब से मुझको ए श्याम तेरी भक्ति मिली,

मेरे दिल की पतंग में श्याम की डोर तू लगाई देनाVerified Lyrics 

मेरे दिल की पतंग में श्याम की डोर तू लगाई देना कहीं और ना उड़ जाए इसे खाटू धाम उड़ाई देना मेरें दिल की पतंग में श्याम की डोर तू लगाई देना बड़े बड़े संकट टल जाते हैं जब साथ हो श्याम हमारा हर विपदा पर भारी पड़ता श्री श्याम का एक जयकारा सांवरिया तेरी

तेरे दर का मैं बनके सवाली, मैया जी तेरे दवारVerified lyrics 

तेरे दर का मैं बनके सवाली, मैया जी तेरे दवार आ गया, मेरी अर्ज सुनो माँ झंडेवाली, मैया जी तेरे दवार आ गया। तेरे मंदिरों की मैया शोभा नयारी, दर पे जो आया कभी दीन भिखारी, गया दर से कभी न कोई खाली, मैया जी तेरे दवार आ गया…..। तेरे पुजारियों को मिले तेरा प्यार